मीडिया Now - उत्तराखंड: अब शादियों में 25 लोग हो सकेंगे एकत्र, आशा वर्कर्स को एक हजार रुपये प्रोत्साहन राशि

उत्तराखंड: अब शादियों में 25 लोग हो सकेंगे एकत्र, आशा वर्कर्स को एक हजार रुपये प्रोत्साहन राशि

medianow 01-05-2021 17:26:19


देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अब शादियों में मेहमानों की अधिकतम सीमा 25 की जा रही है। उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अब शादियों में मेहमानों की अधिकतम सीमा 25 की जा रही है। वहीं, इस संकट के समय में अपनी जान की परवाह किए बगैर सेवा कार्यों में लगी आशा वर्कर्स को एक-एक हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इसके निर्देश आज मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने दिए।

अधिकारियों के साथ बैठक में उन्होंने कहा कि ग्रामीण बाजारों में भी बाजार खुलने के समय को जिलाअधिकारी अपने अनुसार घटा सकते हैं। सचिवालय में आयोजित वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से  शासन के वरिष्ठ अधिकारियों और जिलाधिकारियों के साथ कोविड की स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने डोर टू डोर सर्वे के निर्देश दिये। इसके साथ ही 104 के अतिरिक्त सीएम हेल्पलाइन और पुलिस विभाग के कॉल कॉलसेंटर में फोन लाईनों की संख्या बढाई जाए।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कॉलसेंटर और हेल्पलाईन पूरी तरह से सक्रिय रहें और बेड, इंजेक्शन सम्बंधी जानकारी भी अपडेट रहे। ऑक्सीजन के सिलेंडरों की संख्या बढ़ाने के लिये हर सम्भव कोशिश की जाए। इसमें विभिन्न संगठनों, उद्योगों की सहायता भी ली जा सकती है। कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों को भोजन, पानी जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराने में कोई ढिलाई न हो। इसके साथ ही छोटे- छोटे स्थानों में सेनेटाइजेशन  का काम किया जाए जहां संक्रमण की अधिक सम्भावनाएं हैं ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन प्लांटों में बिजली की निर्बाध आपूर्ति हो। सभी कोविड केयर सेंटर व अस्पतालों में फायर सेफ्टी सुनिश्चित की जाए।  कोविड टेस्ट की रिपोर्ट में समय न लगे। टेस्ट होते ही तुरंत सभी को कोविड किट दिया जाए। शासन से जो भी निर्देश दिये जाते हैं, उनका प्रभावी क्रियान्वयन हो। टेस्ट सेंटरों और वैक्सीनैशन सेंटरों में कोविड प्रोटोकॉल का ध्यान रखा जाए।

उन्होंने कहा कि ई-संजीवनी पोर्टल को और प्रभावी बनाते हुए प्रचारित किया जाए ताकि जन सामान्य उसका अधिक लाभ उठा सके। होम आइसोलेशन में रहने वालों को मालूम होना चाहिए कि उन्हें किन बातों का ध्यान रखना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाहर से आने वालों का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है। इसका पालन कड़ाई से हो। सरकारी व निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों की व्यवस्था को लगातार क्रास चैक करवाया जाए। संबंधित मरीजों और उनके परिजनों से इसका फीड बैक लिया जाए।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :