मीडिया Now - उत्तर प्रदेश: पिछले एक साल में 13 माननीयों कोरोना महामारी से हुआ निधन, सबसे ज्यादा भाजपा विधायकों ने गंवाई जान

उत्तर प्रदेश: पिछले एक साल में 13 माननीयों कोरोना महामारी से हुआ निधन, सबसे ज्यादा भाजपा विधायकों ने गंवाई जान

medianow 08-05-2021 21:15:09


लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण का कहर जारी है. इस संक्रमण ने अब तक कई माननीयों की जान ले चुका है. जानकारी के मुताबिक कोरोना संक्रमण के इस भयावह दौर में उत्तर प्रदेश विधानसभा से पिछले एक साल में 13 सदस्यों का निधन हो चुका है. वहीं पिछले 15 दिन में ही भारतीय जनता पार्टी के 4 विधायकों का कोरोना से निधन हुआ है. जिसमें 23 अप्रैल को लखनऊ पश्चिम के विधायक सुरेश श्रीवास्तव, औरैया के रमेश चंद्र दिवाकर, 28 अप्रैल को बरेली के नवाबगंज से विधायक केसर सिंह गंगवार और 7 मई को रायबरेली की सलोन विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक व पूर्व मंत्री दल बहादुर कोरी का निधन हो गया.

वहीं कोरोना की पहली लहर आने से अब तक पिछले साल कानपुर देहात के घाटमपुर से विधायक और पूर्व मंत्री कमला रानी वरुण, अमरोहा की सादात सीट से विधायक और कैबिनेट मंत्री चेतन सिंह चौहान का निधन हुआ था. जौनपुर की मल्हनी से पूर्व विधायक पारसनाथ यादव और देवरिया सदर के विधायक जन्मेजय सिंह का भी कोरोना से निधन हुआ था.

इसके अलावा 17वीं विधानसभा में चुनकर आये आगरा सदर के पूर्व विधायक जगन, प्रतापगढ़ कानपुर देहात के पूर्व विधायक मथुरा प्रसाद पाल, निघासन लखीमपुर खीरी से पूर्व विधायक राजकुमार वर्मा, नूरपुर बिजनौर के पूर्व विधायक लोकेंद्र सिंह सहित बुलंदशहर सदर के पूर्व विधायक विरेंद्र सिंह सिरोही का भी निधन हो चुका है.

सपा और बसपा के भी कई वरिष्ठ नेता हुए शिकार
इस तरह कोरोना की दूसरी लहर में अभी तक भाजपा के 4 विधायकों की जान जा चुकी है. नुकसान समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने भी उठाया है. सपा और बसपा के कई वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक कोरोना की दूसरी लहर के शिकार हुए हैं. बता दें कि यूपी की विधानसभा में विधायकों के 403 पद हैं. इनमें से भारतीय जनता पार्टी के 307, समाजवादी पार्टी के 49 और बहुजन समाज पार्टी के 18 विधायक हैं.

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :