मीडिया Now - उत्तराखंड: गणेश जोशी के पक्ष में उतरे कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत, पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत को महामारी में टांग न खींचने की दी नसीहत

उत्तराखंड: गणेश जोशी के पक्ष में उतरे कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत, पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत को महामारी में टांग न खींचने की दी नसीहत

medianow 12-05-2021 20:24:34


देहरादून। कोरोना महामारी के बीच पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और मंत्री गणेश जोशी के बीच जारी कोल्ड वॉर के बाद एक अन्य मंत्री भी मैदान में उतर आए हैं। गणेश जोशी के बाद अब कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने भी ये माना है कि पहली लहर के दौरान सरकार ने तैयारी करने में भारी चूक की। यही नहीं मंत्री हरक सिंह रावत ने त्रिवेंद्र सिंह रावत को महामारी के इस दौर में टीका-टिप्पणी और एक दूसरे की टांग खींचने से बचने की नसीहत भी दी।

आपको बता दें कि दो दिन पहले ही त्रिवेंद्र सरकार के दौरान कोरोना काल में अधूरी तैयारियों को लेकर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने बड़ा बयान देते हुए कहा था 'इसको लापरवाही और कमी दोनों कह सकते हैं, क्योंकि किसी को यह नहीं मालूम था कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर आएगी। पूरी सरकार अपने आप में मस्त हो गई थी।

उसी लापरवाही की वजह से ही मुख्यमंत्री बने तीरथ सिंह रावत और उनके मंत्रियों पर एकदम बोझ बढ़ गया है, लेकिन कोरोना से निपटने के लिए सभी मंत्रियों को जिलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है'। जोशी के इस बयान के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उन्हें अनुभवहीन मंत्री बताया था और उनकी टिप्पणी को महत्वहीन करार दिया था।

अब मंत्री गणेश जोशी के साथ हरक सिंह रावत भी खड़े हो गए हैं। उन्होंने साफ कहा कि राज्य में पहली लहर के बाद सरकार की तरफ से जो तैयारी होनी चाहिए थी, उसमें भारी चूक हुई है. सरकार की तरफ से कोरोना को लेकर कोई तैयारी ही नहीं हो पाई और इस मामले में सरकार और जनता दोनों ने ही कोरोना को नजरअंदाज कर दिया।

हरक सिंह रावत ने पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के गणेश जोशी को अनुभवहीन मंत्री बताने के बयान पर टिप्पणी करते हुए कहा कि गणेश जोशी युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष रहे हैं और कई बार के विधायक भी हैं। ऐसे में वह अनुभवहीन कैसे हो सकते हैं। हरक सिंह रावत ने पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को कहा कि आज प्रदेश के अंदर कोरोना महामारी फैली हुई है ऐसे में एक दूसरे की टांग खींचने से बचना चाहिए।उन्हें इस प्रकार की टीका टिप्पणी नहीं करने की नसीहत भी दी।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :