मीडिया Now - पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत व कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी में मची रार, त्रिवेंद्र ने मंत्री को बताया अनुभवहीन

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत व कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी में मची रार, त्रिवेंद्र ने मंत्री को बताया अनुभवहीन

medianow 13-05-2021 11:51:19


देहरादून। कोरोना को हैंडिल करने में त्रिवेंद्र सरकार के कार्यकाल में हुई चूक से संबंधित कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी के बयान से भाजपा में रार शुरू हो गई। पूर्व मुख्यमंत्री ने मंत्री गणेश जोशी को आड़े हाथ लेते हुए अनुभवहीन बता डाला ,इससे मुख्यमंत्री तीर्थ सिंह रावत के मंत्री के चयन पर भी सवाल खड़े हो गए है ।बताते चले कि कांग्रेस की सरकार में गणेश जोशी शक्तिमान घोड़े को मारने के जुर्म में जेल भी जा चुके हैं ।मामले को संभालने में पार्टी के दिग्गज जुट गए हैं।

त्रिवेंद्र भले ही अब पूर्व मुख्यमंत्री हों। मगर, उनका कार्यकाल की भाजपाइयों को रह रहकर याद आ रही हैं। ये यादें भाजपा का कई तरह से भारी पड़ रही हैं। इसने भाजपा संगठन की चिंता बढ़ा दी हैं। आगे चलकर ये पार्टी के लिए मुश्किल भी खड़ी करेंगे। इसके संकेत भी मिलने लगे हैं। बहरहाल, ताजा मामला कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी का बयान है। जोशी ने स्वीकार भर किया था कि त्रिवेंद्र सरकार में कोरोना के मूल्यांकन में हुई चूक की वजह से दूसरी लहर से निपटने में दिक्कतें आ रही हैं। ये बात उत्तराखंड ही नहीं पूरे देश पर लागू होती है।

चूक त्रिवेंद्र सरकार से ही हुई हो ऐसा नहीं है। चूक केंद्र सरकार से लेकर सभी राज्य सरकारों से हुई। इसका खामियाजा पूरा देश भुगत रहा है। आगे कब तक ऐसे हालात रहेंगे कहा नहीं जा सकता।

बहरहाल, उत्तराखंड में कैबिनेट मंत्री जोशी के बयान को विपक्ष ने मुददा बना दिया है। विपक्ष ने इस पर सवाल उठाए तो जनता को भी त्रिवेंद्र सरकार का कार्यकाल याद आ गया।  बयान पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को नागवार गुजरा। उन्होंने जोशी को अनुभवहीन बता डाला। साथ ही नसीहत दी कि उन्हें अभी सीखना चाहिए। पूर्व सीएम रावत को बुरा लगा तो पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक भी जोशी को गलत ठहराने पर जोर देने लगे।

कहा कि त्रिवेंद्र सरकार में जोशी मंत्री नहीं थे। लिहाजा उस वक्त सरकार के प्रयासों की उन्हें खास जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा की त्रिवेंद्र सरकार ने भी अच्छा काम किया और तीरथ सरकार भी अच्छा काम कर रही है। कुल मिलाकर सरकार के एक कैबिनेट मंत्री के बयान को निष्प्रभावी बनाने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। बावजूद इसके असर कम होता नहीं दिख रहा है। जनता मूल्यांकन कर रही है और परेशानी होने पर भाजपा सरकार को हर स्तर पर कोस रही है।

त्रिवेंद्र को हटाकर तीरथ को सीएम बनाने से सरकार को लेकर जनता में बनी नकारात्मक भाव को मिटाने के प्रयास ज्यादा असरकारक होते नहीं दिख रहे हैं। लोगों ने अब विभिन्न वजहों से तीरथ सरकार को भी कोसना शुरू कर दिया है।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :