मीडिया Now - बंगाल: राज्यपाल 'गो बैक' के लगे नारे, धनखड़ ने सरेआम इंस्पेक्टर को लगाई डांट

बंगाल: राज्यपाल 'गो बैक' के लगे नारे, धनखड़ ने सरेआम इंस्पेक्टर को लगाई डांट

medianow 13-05-2021 21:22:19


कोलकाता। पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद भी सियासी तकरार जारी है. इस बीच गुरुवार को जब राज्यपाल जगदीप धनखड़ हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने निकले तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा. कूचबिहार के दिनहटा में राज्यपाल धनखड़ के सामने 'गो बैक' के नारे लगे, उन्हें काले झंडे दिखाए गए. इससे नाराज होकर राज्यपाल ने सुरक्षा में तैनात एक इंस्पेक्टर को सरेआम डांट दिया. 

दरअसल, बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा निकले थे. दौरे के दौरान राज्यपाल धनखड़ का कूचबिहार में कुछ लोगों ने विरोध करते हुए गो बैक के नारे लगाए. लोगों को इकट्ठा और नारेबाजी करते देख राज्यपाल अपनी गाड़ी से उतरे और कुछ बात की. 

बता दें विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद कूचबिहार के कुछ हिस्सों में हिंसा देखने को मिली थी. आज जब यहां राज्यपाल पहुंचे तो लोग उनका विरोध करने लगे. हंगामे को लेकर उन्होंने मीडिया से बात की. इस दौरान राज्यपाल धनखड़ ने बंगाल पुलिस पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि यहां कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त है. मैं ऐसी घटना कभी सोच भी नहीं सकता था. 

हिंसा पीड़ितों से मुलाकात के बाद बंगाल के राज्यपाल धनखड़ ने कहा कि मैंने लोगों की आंखों में पुलिस का डर देखा. वे पुलिस के पास जाने तक से डरते हैं. धनखड़ ने आरोप लगाया कि उनके घरों को लूटा गया. यह लोकतंत्र का विनाश है.


इस बीच राज्यपाल ने मीडिया से कहा कि जब मैंने राज्य सरकार से कहा कि मैं चुनाव के बाद हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करूंगा, तो सीएम ने कहा कि राज्यपाल राज्य सरकार की अनुमति के बिना क्षेत्रों का दौरा नहीं कर सकते. ये सुनकर मैं दंग रह गया था. मैंने सीएम को लिखा और उसे बताया कि यह असंवैधानिक है.

इस घटना को लेकर टीएमसी नेता यशवंत सिन्हा ने कहा कि बंगाल के राज्यपाल मोदी/शाह द्वारा दी गई पटकथा के अनुसार काम कर रहे हैं. उन्होंने अभी तक चुनावों में अपनी दयनीय हार स्वीकार नहीं की है. उनके पास भारत के संविधान के लिए कोई सम्मान नहीं है. वे कभी भी ममता बनर्जी को शांति से नहीं छोड़ेंगे. 

गौरतलब है कि जगदीप धनखड़ ने बीते दिन ही कहा था कि वह बंगाल के हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में जाकर हालात का जायजा लेंगे. उन्होंने यह भी दावा किया था कि दौरे के लिए ममता सरकार से कहने के बाद भी प्रशासन की ओर से कोई जवाब नहीं आया.

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :