मीडिया Now - PM Cares Fund से 104 वेंटिलेटर दिए गए थे. लेकिन इन 104 वेंटिलेटर में से 45 काम ही नहीं करते है

PM Cares Fund से 104 वेंटिलेटर दिए गए थे. लेकिन इन 104 वेंटिलेटर में से 45 काम ही नहीं करते है

medianow 20-05-2021 18:13:49


गिरीश मालवीय / पीएम मोदी के साथ हुई मीटिंग में झारखंड RIMS हॉस्पिटल के क्रिटिकल केयर यूनिट के प्रमुख डॉ. प्रदीप भट्टाचार्य ने मोदी को स्पष्ट बोल दिया कि आपके दिए गए वेंटिलेटर चलते नहीं है उन्होंने कहा कि  हमें PM Cares Fund से 100 ऑक्सिजन कंसंट्रेटर और 104 वेंटिलेटर दिए गए थे. लेकिन इन 104 वेंटिलेटर में से 45 काम ही नहीं करते है. 

महाराष्ट्र से भी खबर आयी है कि औरंगाबाद जिले के सरकारी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (जीएमसीएच) की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पीएम केयर्स फंड की ओर से अस्पताल को दिए गए वेंटिलेटर्स में से कई खराब हैं जीएमसीएच की 3 पेज की रिपोर्ट में कहा गया है कि पीएम केयर्स फंड (पीएमसीएफ) के तहत कोविड-19 मरीजों के लिए 150 वेंटिलेटर दिए गए, जिनमें से 100 धमन 3 मॉडल की आपूर्ति 12 अप्रैल को ज्योति सीएनसी द्वारा की गई। डीन द्वारा औरंगाबाद कलेक्टर को सौंपी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि कुछ वेंटिलेटर की स्थापना और टेस्ट के बाद, वे अत्यंत गंभीर कोविड रोगियों के इलाज के लिए बेकार पाए गए।

कंपनी के प्रतिनिधि सहदेव गुचकुंड और कल्पेश 6 दिनों के बाद आए और 25 वेंटिलेटर लगाए लेकिन अगले ही दिन 20 अप्रैल को सभी खराब साबित हुए। सावंत ने कहा कि रिपोर्ट में कहा गया है कि वेंटिलेटर उतनी ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं कर रहे थे जितने की जरूरत थी। इससे कोविड रोगियों के लिए सांस लेना मुश्किल हो रहा था और परिणामस्वरूप उनके ऑक्सीजन का स्तर गिर रहा था। इससे उनके जीवन को खतरा हो रहा था।

आज एक जनहित सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गयी है  जिसमें पीएम केयर्स फंड की वर्तमान स्थिति व कोविड-19 राहत और अन्य परियोजनाओं के लिए इससे किए गए राशि के आवंटन की जानकारी मांगी गई है।............ मोदी को जवाब देना होगा कि गुजरात की कम्पनियो को उपकृत करने के लिए हजारो मरीजों की बलि क्यों ली गयी.
- लेखक एक नामी समीक्षक हैं

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :