मीडिया Now - पीएम मोदी का नया जुमला 'जहां बीमार वहीं उपचार'

पीएम मोदी का नया जुमला 'जहां बीमार वहीं उपचार'

medianow 22-05-2021 08:49:56


डॉ. अखंड प्रताप सिंह मानव / प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आजकल एक और इतिहास रच रहे है. सारे संवैधानिक और शासन व्यवस्था को धता बताते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सीधे जिलाधिकारियों और फ्रंट लाइन हैल्थ वर्करों से बात कर रहे हैं. जिस समय एक पीएम को सब कुछ छोड़कर वैक्सीन कि व्यवस्था में लगना चाहिए, मोदी खुद एक फ्रंट लाइन वर्कर की तरह काम कर रहे हैं. कितनी बड़ी विडंबना है इतने लोगों के मरने के बाद भी उनकी प्राथमिकता क्या होनी चाहिए ये तय नहीं कर पा रहे हैं, और फिर से सस्ती लोकप्रियता लेने की राह पर चल निकले हैं.

कल कई राज्यों के जिलाधिकारियों से वार्ता के बाद आज उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वाराणसी के डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ और अन्य फ्रंटलाइन स्वास्थ्यकर्मियों से बात की. इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं काशी का एक सेवक होने के नाते हर एक काशीवासी का हृदय से धन्यवाद देता हूं. विशेष रूप से हमारे डॉक्टर्स, नर्सेज, वार्ड बॉयज और एम्बुलेंस ड्राइवर्स ने जो काम किया है, वो वाकई सराहनीय है. इस संबोधन के दौरान भावुक होते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ''इस वायरस ने हमारे कई अपनों को हमसे छीना है. मैं उन सभी लोगों को अपनी श्रद्धांजलि देता हूं, उनके परिजनों के प्रति सांत्वना व्यक्त करता हूं.'' 

इस उद्बोधन के दौरान उन्होंने एक नया जुमला दिया और कहा कि अब हमारा नया मंत्र है  'जहां बीमार वहीं उपचार'. कुल मिलाकर आज भी न इस महामारी के प्रति न तो पीएम मोदी गंभीर और संवेदनशील दिख रहे हैं ना उनकी सरकार. वैक्सीन का जिम्मा राज्यों पर छोड़कर मोदी फिर निकल पड़े हैं अपने भरोसेमंद जुमलेबाजी, दिखावे और इमोशनल कार्ड खेलने की रणनीति पर.

- लेखक "मीडिया नाऊ" के प्रधान संपादक हैं

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :