मीडिया Now - मुख्यमंत्री तीरथ ने कोविड-19 फर्जी बिलिंग और नमामि गंगे में हुई गड़बड़ियों की जांच के दिए निर्देश

मुख्यमंत्री तीरथ ने कोविड-19 फर्जी बिलिंग और नमामि गंगे में हुई गड़बड़ियों की जांच के दिए निर्देश

medianow 04-04-2021 12:42:45


देहरादून। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने उत्तरकाशी जिले में नमामि गंगे परियोजना में गड़बड़ी और कोविड-19 महामारी के बिलों में फर्जीवाड़े की शिकायत पर जिलाधिकारी को 10 दिन जांच करने का आदेश दिया है। शनिवार को ग्राम नैताला (रैथल, भटवाड़ी और बरासू) में मुख्यमंत्री त्वरित समाधान कार्यक्रम के तहत रात्रि चौपाल में स्थानीय ग्रामीणों ने यह शिकायतें उठाई। चौपाल से वर्चुअल माध्यम से जुड़े मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को ग्रामीणों की समस्याओं के शीघ्र निराकरण के दिए निर्देश दिए।

चौपाल में कुल 18 शिकायतें प्राप्त हुईं। इन सभी शिकायतों का समाधान कर दिया गया। कार्यक्रम में सभी जिला स्तरीय अधिकारी, एसपी, सीडीओ तथा स्थानीय और आसपास के ग्रामीण मौजूद थे। एक महिला ने गांव में एएनएम सेंटर खुलवाने की मांग की।सीएमओ उत्तरकाशी ने बताया कि एएनएम सेंटर का भवन है, लेकिन मैन पॉवर की कमी होने के कारण यह संचालित नहीं हो पा रहा है। इस पर मुख्यमंत्री ने एएनएम सेंटर में एएनएम और फार्मेसिस्ट की नियुक्ति कर प्राथमिकता के आधार पर उसे शीघ्र शुरू करवाने के निर्देश दिए। 

बीडीसी सदस्य ने बताया कि नैताला के समीप स्थित तोक जहां 300 से 400 लोग रहे हैं, वहां सड़क की व्यवस्था नहीं होने से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दो बार शासन से एस्टीमेट वापस आ चुके हैं। इस पर मुख्यमंत्री ने उनकी समस्या के शीघ्र समाधान के निर्देश दिए।

पशु चिकित्सालय का भवन अब तक नहीं बन पाया

एक ग्रामीण ने कहा कि गांव में अभी तक पशु चिकित्सालय का भवन अब तक नहीं बन पाया है। इस पर पशु चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में पशु चिकित्सालय किराये पर चल रहा है और डॉक्टर भी पदस्थ है। अधिकारी ने आश्वासन दिया है कि जिला योजना में इस प्रस्ताव को रखा जाएगा। इस पर मुख्यमंत्री ने शीघ्र भवन निर्माण के निर्देश दिए। नैताला के वार्ड 2 से जिला पंचायत सदस्य ने कहा कि उनके यहां नमामि गंगे के तहत घाट बनना अति आवश्यक है।

वो स्वीकृत भी था, बाद में उसे बनाना रद कर दिया गया। उन्होंने कहा कि गंगा नदी के किनारे स्थित पर्यटन स्थलों के समीप दीवार बनाना भी आवश्यक है। यह बरसात में क्षेत्र के लिए बड़ा खतरा होता है। इस पर मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारी को शीघ्र प्रस्ताव देकर निर्माण करवाने के निर्देश दिए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने नमामि गंगे योजना में घोटाले की सूचना मिलने की बात कही और इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाने के निर्देश दिए। सुनीता भट्ट की मांग पर मुख्यमंत्री ग्राम में दूध डेयरी खोलने के लिए महिला समूह को शीघ्र जमीन उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।
 
एक अन्य व्यक्ति ने ग्राम के समीप 1955 में बनी चार किमी लंबी नहर का जीर्णोद्धार नहीं होने से सिंचाई में समस्या से अवगत करवाया। मुख्यमंत्री ने मामला जिला योजना की बैठक में रखने के संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए। गांव की पूजा राणा ने इंटर कॉलेज बिल्डिंग में पर्याप्त कमरे नहीं होने का मसला उठाया। मुख्यमंत्री ने कमरों का शीघ्र निर्माण करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए पर्याप्त बजट फंडिंग की व्यवस्था है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने नमामि गंगे योजना में घोटाले की सूचना मिलने की बात कही और इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाने के निर्देश दिए।  

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :