मीडिया Now - जीतन राम मांझी ने डेथ सर्टिफिकेट पर पीएम मोदी तस्वीर लगाने की दी सलाह, भाजपा ने किया पलटवार, कही ये बड़ी बात

जीतन राम मांझी ने डेथ सर्टिफिकेट पर पीएम मोदी तस्वीर लगाने की दी सलाह, भाजपा ने किया पलटवार, कही ये बड़ी बात

medianow 24-05-2021 16:49:00


पटना। जीतन राम मांझी अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं. खासतौर पर जिस गठबंधन में रहते हैं, अपने सहयोगियों के लिए परेशानी खड़े करते रहे हैं. एक बार फिर मांझी ने एनडीए के मुख्य घटक बीजेपी के लिए परेशानी खड़ी कर दी है. वैक्सीन सर्टिफिकेट पर पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर मांझी को न्याय संगत नहीं लगी, सो मांझी ने डेथ सर्टिफिकेट पर भी पीएम की तस्वीर लगाने की सलाह दे डाली है. मांझी के इस बयान पर बीजेपी काफी नाराज हो गयी है. बीजेपी ने मांझी को सीधे तरीके से ज्ञान वर्धन की सलाह दे डाली है.

जीतन राम मांझी का खतरनाक ट्वीट
पूर्व सीएम जीतन राम मांझी के कोरोना  वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के बाद बीजेपी के लिए मुसीबत खड़ी हो गयी है. बीते दो दिनों से मांझी लगातार ट्वीट कर पीएम पर हमला बोल रहे हैं. रविवार को टीके का दूसरा डोज लेने के बाद मांझी ने ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि को वैक्सीन के दूसरे डोज के उपरांत मुझे प्रमाण पत्र दिया गया जिसमें प्रधानमंत्री की तस्वीर लगी है. देश में संवैधानिक संस्थाओं के सर्वेसर्वा राष्ट्रपति हैं, इस नाते उसमें राष्ट्रपति की तस्वीर होनी चाहिए. वैसे तस्वीर ही लगनी है तो राष्ट्रपति के अलावा पीएम और स्थानीय सीएम की भी तस्वीर हो.

सोमवार को मांझी के तेवर और भी तल्ख हो गए
मांझी यही नहीं रुके. दूसरे दिन यानी सोमवार को मांझी के तेवर और भी तल्ख हो गए. मांझी ने ट्वीट कर फिर पीएम पर हमला बोला. मांझी ने कहा कि वैक्सीन के सर्टिफिकेट पर यदि तस्वीर लगाने का इतना ही शौक है तो कोरोना से हो रही मृत्यु के डेथ सर्टिफिकेट पर भी तस्वीर लगाई जाए. यही न्याय संगत होगा.

जीतन राम मांझी के बयान पर बीजेपी बोली ज्ञान वर्धन करें मांझी
जीतन राम मांझी के इस बयान से बिहार के सियासी गलियारे में बवाल मच गया है. मांझी के बयान से बीजेपी नाराज हो गयी है. पार्टी ने मांझी को ज्ञान वर्धन की सलाह दी है. पार्टी के प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा है कि पीएम मोदी की वजह से ही टीका सबसे पहले भारत में आया है. सबसे पहले टीके को लेकर पूरे विश्व में भारत का नाम चर्चा में है. भारत ने दूसरे देशों को टीके से मदद भी किया है। इसलिए टीके का पूरा श्रेय पीएम को जाता है.

मांझी को मिला कांग्रेस आरजेडी का समर्थन 
इधर कांग्रेस और आरजेडी ने मांझी के बयान का समर्थन कर दिया है. कांग्रेस प्रवक्ता आऩंद माधव ने मांझी को वरिष्ठ अनुभवी नेता बताया है. साथ ही ये भी कहा है कि मांझी एनडीए गठबंधन के महत्वपूर्ण अंग हैं. उनके बयान लोगों को सोचने पर मजबूर करते हैं. लेकिन कुछ लोगों का बस चले तो शव वाहन से लेकर मुर्दाघर और डेथ सर्टिफिकेट पर भी अपनी तस्वीर छपवा लें. वहीं Rjd नेता विजय प्रकाश ने कहा है कि मांझी जी का बयान बिल्कुल सही है. उनके बयान का हम समर्थन करते हैं. ये आपदा का समय है. आपदा में अवसर मिला है. प्रधानमंत्री और सरकार के लोगों को अवसर का फायदा उठाना चाहिए. डेथ सर्टिफिकेट पर भी अपना फोटो लगाना चाहिए.

जेडीयू हुई खामोश तो हम प्रवक्ता ने बीजेपी पर साधा निशाना
सबसे खास बात यह है कि जीतन राम मांझी के बयान पर जेडीयू का कोई नेता कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है. यहां तक कि प्रवक्ताओं ने भी चुप्पी साध ली है. इधर मांझी के ट्वीट के बाद हम प्रवक्ता विजय यादव ने भी बीजेपी पर हमला बोल दिया है. विजय यादव ने कहा है कि ये चेहरा चमकाने का समय नहीं है. उन्होंने कहा कि जब वैक्सीन के नाम पर वाहवाही आप लूटेंगे तो इतने लोग जो कोरोना में मर गए उसका भी श्रेय आपको लेना चाहिए.

क्या इसलिए नाराज हैं मांझी?
मांझी के इस बयान के बाद चर्चा हो रही है कि बीते दिनों बिहार में राज्यपाल के कोटे से एमएलसी सीटों पर मनोनयन हुआ था. मांझी को उम्मीद थी कि उनकी पार्टी को भी एक सीट मिलेगी लेकिन नहीं मिली. मांझी ने इसपर खुलकर आपत्ति भी दर्ज की थी. कहा जा रहा है कि मांझी को मिले फीडबैक में बीजेपी के कारण ही मांझी के हाथ कोई सीट नहीं लग सकी थी. ऐसे में शायद इसी बात की टीस मांझी को अभी भी साल रही है.

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :