मीडिया Now - राहुल गांधी ने कोरोना की दूसरी लहर के लिए प्रधानमंत्री मोदी को ठहराया जिम्मेदार, लगाए ये गंभीर आरोप

राहुल गांधी ने कोरोना की दूसरी लहर के लिए प्रधानमंत्री मोदी को ठहराया जिम्मेदार, लगाए ये गंभीर आरोप

medianow 28-05-2021 13:53:42


नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और  सांसद राहुल गांधी आज शुक्रवार को कोरोना महामारी को लेकर एक बार मोदी सरकार पर बरसे. राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कोरोना की दूसरी लहर के लिए पीएम मोदी को जिम्मेदार ठहराया है. साथ ही उन्होंने वैक्सीनेशन की रफ्तार को लेकर केंद्र पर निशाना साधा है.

राहुल गांधी ने कहा, "सरकार और प्रधानमंत्री को आज तक कोरोना समझ ही नहीं आया है. कोरोना सिर्फ एक बीमारी नहीं है, कोरोना एक बदलती हुई बीमारी है. आप इसको जितना समय और जगह देंगे ये उतना खतरनाक बनता जाएगा. ये दूसरी लहर प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी है, प्रधानमंत्री ने जो नौटंकी की, अपनी जिम्मेदारी पूरी नहीं की उसका कारण दूसरी लहर है. अगर वैक्सीनेशन इसी तरह से चलता गया तो मई 2024 में भारत की पूरी जनता का वैक्सीनेशन होगा."

कांग्रेस नेता ने आगे कहा, "अगर इस रेट पर वैक्सीनेशन चलता गया तो तीसरी, चौथी और पांचवी लहर आएगी. हमारी मृत्यु दर झूठ है और सरकार इस झूठ को फैला रही है. सरकार को समझना चाहिए कि विपक्ष उनका दुश्मन नहीं है, विपक्ष उनको रास्ता दिखा रहा है."

प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी की अहम बातें

  1. टीका कोरोना का एक स्थायी समाधान है. लॉकडाउन, मास्क, सामाजिक दूरी अस्थाई समाधान है. टीका नीति ठीक नहीं हुई तो एक नहीं अनेक बार लोग मरेंगे, नई लहर आती जाएगी.
  2. आज 97 फीसदी लोगों को कोरोना हो सकता है. दरवाजा खुला है. अमेरिका ने आधी आबादी को टीका लगा दिया, हम वैक्सीन कैपिटल हैं लेकिन बुरी हालत है.
  3. मैंने और बहुत लोगों ने सरकार को कई बार कोरोना को लेकर चेताया, लेकिन सरकार ने हमारा मजाक उड़ाया. प्रधानमंत्री ने तो कोरोना पर जीत की घोषणा कर दी.
  4. कोरोना महज एक बीमारी नहीं, बदलती हुई बीमारी है. जितना समय और जगह इसे देंगे उतना खतरनाक बनता जाएगा. मैंने फरवरी में ही कहा कि कोरोना को जगह मत दीजिए. कहा जाता है कि मैं लोगों को डरा रहा हूँ. मैं लोगों को डरा नहीं रहा. मुझे लोगों की फिक्र है.
  5. हम किस्मत वाले हैं कि दूसरी बीमारी भी कोरोना वायरस जैसा ही है, अगली बीमारी कुछ और रूप ले सकती है. टीकाकरण की संख्या बढ़ानी ही होगी. अगर ऐसा नहीं होता तो मौजूदा 3% टीकाकरण के दर से अगल वेब आना तय है.

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :