मीडिया Now - डब्ल्यूटीसी: साउथम्पटन से जुड़ी हैं टीम इंडिया की कड़वी यादें, अच्छा नहीं है रिकॉर्ड

डब्ल्यूटीसी: साउथम्पटन से जुड़ी हैं टीम इंडिया की कड़वी यादें, अच्छा नहीं है रिकॉर्ड

medianow 30-05-2021 22:09:54


नई दिल्ली। भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ साउथम्पटन के उस एजिस बाउल में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल खेलना है, जहां उसका रिकॉर्ड अच्छा नहीं है. इस मैदान पर भारतीय टीम ने अभी तक अपने दोनों टेस्ट मैच गंवाए हैं. यह पहला मौका होगा जब एजिस बाउल मैदान का इस्तेमाल तटस्थ स्थल के रूप में किया जाएगा. यहां अब तक खेले गए सभी छह टेस्ट मैचों में मेजबान इंग्लैंड शामिल रहा है. इनमें से दो टेस्ट मैच उसने भारत के खिलाफ खेले हैं.

भारतीय टीम को इन दोनों मैचों में हार का सामना करना पड़ा था. इंग्लैंड ने एजिस बाउल में इन्हीं दो मैचों में जीत दर्ज की है. न्यूजीलैंड की टीम ने अब तक एजिस बाउल में कोई टेस्ट मैच नहीं खेला है. कीवी टीम ने हालांकि इस मैदान पर तीन वनडे मैच खेले हैं जिनमें से उसे दो में जीत मिली जबकि एक मैच का परिणाम नहीं निकला. भारत ने इस मैदान पर जो पांच वनडे खेले हैं उनमें से तीन में उसे जीत मिली.

एजिस बाउल में पहला टेस्ट मैच जून 2011 में खेला गया था जबकि भारत ने जुलाई 2014 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में यहां पहला टेस्ट मैच खेला था. भारत ने यह मैच 266 रन के बड़े अंतर से गंवाया था. वर्तमान टीम में शामिल चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, रविंद्र जडेजा और मोहम्मद शमी उस मैच में खेले थे.

भारत ने इस मैदान पर दूसरा टेस्ट मैच 2018 के इंग्लैंड दौरे में खेला था. तब कोहली टीम की कमान संभाल रहे थे लेकिन भारत के सबसे सफल कप्तान को भी एजिस बाउल में सफलता नहीं मिली थी. भारतीय टीम ने यह मैच 60 रन से गंवाया था. चेतेश्वर पुजारा की पहली पारी में नाबाद 132 रन की पारी भारत की तरफ से आकर्षण का केंद्र थी. इससे भारत ने पहली पारी में बढ़त भी हासिल की थी लेकिन दूसरी पारी में भारतीय टीम 245 रन के लक्ष्य के सामने 184 रन पर आउट हो गई थी. वर्तमान टीम के नौ खिलाड़ी उस मैच का हिस्सा थे.

इन दोनों मैचों में भारतीय टीम को सबसे अधिक नुकसान आफ स्पिनर मोईन अली ने पहुंचाया था. उन्होंने पहले मैच में आठ और दूसरे मैच में नौ विकेट हासिल किए थे. इससे जाहिर होता है कि एजिस बाउल में स्पिनरों को भी मदद मिलती है और ऐसे में रविचंद्रन अश्विन और जडेजा की भूमिका अहम होगी. भारतीय बल्लेबाजों को भी मिशेल सैंटनर जैसे स्पिनरों से सतर्क रहना होगा.

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :