मीडिया Now - एंटीजन किट तस्करी करने वाले चार संविदा कर्मी गिरफ्तार, 25 लाख रुपये के दो हजार किट बरामद

एंटीजन किट तस्करी करने वाले चार संविदा कर्मी गिरफ्तार, 25 लाख रुपये के दो हजार किट बरामद

medianow 15-06-2021 20:23:04


नेपाल बार्डर से (यशोदा श्रीवास्तव) / कोरोना के पीक आवर में इससे संबंधित दवाओं की कालाबाजारी का खेल खूब हुआ। अब इसके जांच किट की तस्करी का मामला सामने आया है। सरकारी अस्पतालों में आई कोरोना जांच की एंटीजन किट की नेपाल के लिए तस्करी हो रही है। ऐसा ही एक मामला नेपाल बार्डर के जिला सिद्धार्थ नगर में पकड़ा गया है। इसमें लिप्त स्वास्थ्य विभाग के चार संविदा कर्मी पकड़े गए हैं। इनके पास से 25 लाख का सरकारी सप्लाई का एंटिजन किट बरामद हुआ है जिसे ये नेपाल तथा बिहार के निजी अस्पतालों को बेचने के लिए ले जा रहे थे।

सिद्धार्थ नगर के एसपी रामअभिलाष त्रिपाठी ने बताया कि उन्हें मुखबिर से जानकारी मिली कि अवैध तरीके से सरकारी एंटीजन किट की भारी पैमाने पर तस्करी हो रही है।इसके पर्दाफाश के लिए एसडीएम सदर, सीओ और एसओजी की संयुक्त टीम तैयार की गई और इन्हें देर रात जिला मुख्यालय से बाहर जाने वाले रास्तों पर देर रात नाकाबंदी कर संदिग्ध वाहनों की तलाशी को कहा गया। सोमवार को देर रात सिद्धार्थ नगर गोरखपुर मार्ग पर उसका थाना क्षेत्र के रेलवे क्रासिंग के पास एक संदिग्ध कार की तलाशी लीगई।कार से ४०-४० पैकेट के दो

हजार एंटीजन किट बरामद हुआ जिसकी किमत लगभग २5 लाख रुपये होगी। पूछताछ मेें पकड़े गए लोगों की शिनाख्त स्वास्थ्य महकमें में संविदा कर्मी के रूप में हुई।ये सभी सिद्धार्थ नगर जिले के निवासी हैं। चारों ने सरकारी सप्लाई के एटीजन किट को चोरीकर नेपाल और बिहार के निजी अस्पतालों को बेचने की बात कबूल की। पुलिस ने चारों को जेल भेज दिया।

 संविदा होगी समाप्त

एंटीजन टेस्ट किट बेचने के मामले की जानकारी मिली थी। जांच के लिए टीमें लगाई गई थीं। जांच में पुख्ता होने सबूत के बाद एसडीएम सदर के साथ एसओजी टीम को तैयार किया गया। इसके बाद चार संविदा कर्मियों को पकड़ा गया है। किट भी बरामद हुआ है, इन सभी की सेवा समाप्ति के साथ ही कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जांच जारी है जो भी इसमे संलिप्त होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। दीपक मीणा जिलाधिकारी सिद्धार्थनगर

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :