मीडिया Now - देहरादून: सहसपुर थाने में युवक की मौत, आयोग ने की स्वतंत्र एजेंसी से जाँच की मांग

देहरादून: सहसपुर थाने में युवक की मौत, आयोग ने की स्वतंत्र एजेंसी से जाँच की मांग

medianow 07-04-2021 12:21:32


देहरादून। उत्तराखंड राज्य के जिला देहरादून के सहसपुर थाने में युवक अभिनव कुमार के अवैध हिरासत में मौत मामलें में न्यायिक जाँच के बाद दरोगा पीडी भट्ट और अन्य पुलिसकर्मियों को घोर लापरवाही का दोषी मानते हुए मानवाधिकार आयोग के सदस्य न्यायमूर्ति अखिलेश चन्द्र शर्मा तथा सदस्य पूर्व आईपीएस राम सिंह मीना द्वारा मामलें की अति गंभीरता संवेदनशीलता को देखते हुए किसी स्वतंत्र एजेंसी से जाँच की संस्तुति कर डीजीपी को नियमानुसार व विधिनुसार कार्यवाही हेतु निर्देशित कर आख्या मांगी गयी हैं।

सम्पूर्ण मामला इस प्रकार हैं कि उत्तराखंड राज्य के जिला देहरादून के थाना सहसपुर में पॉक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में छात्रा की तहरीर पर एक युवक अभिनव कुमार यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था तथा जांच महिला दरोगा लक्ष्मी जोशी को सौंपी गई आरोपी अभिनव कुमार यादव को पूछताछ के लिए दिनाँक 29-11-2019 को थाना सहसपुर बुलाया गया था आरोपी से पूछताछ के बाद सुरक्षा की दृष्टि से थाना सहसपुर की हवालात में रखा गया आरोपी अभिनव कुमार यादव को 30-11-2019 की प्रातः जो कंबल उसे ओढ़ने के लिए दिया गया था उस कंबल के किनारों को फाड़कर बने फंदे में हवालात के भीतर कील में लटका पाया गया। 

उपरोक्त मामलें की शिकायत जनहित में मानवाधिकार आयोग उत्तराखंड में की गयी कि सहसपुर थाना पुलिस आरोपी की मौत को आत्महत्या बता रही है परंतु पुलिस की कहानी में झोल ही झोल नजर आ रहे हैं क्योंकि पुलिस का कहना है कि आरोपी ने रात को हवालात में कंबल के किनारे की पट्टी को फाड़कर उसका फंदा बनाया हवालात के अंदर दीवार पर कील थी जिस पर आरोपी ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली परंतु आरोपी ने आत्महत्या हवालात के ऐसे कोने में की जहां थाने में लगे सीसीटीवी कैमरे की पहुंच नहीं है।

सहसपुर थाने के अंदर हवालात के ठीक सामने थाना प्रभारी पीडी भट्ट का कार्यालय है तथा पास में ही थाना प्रभारी का आवास भी है इसके अलावा हवालात के पास ही पुलिस का कार्यालय है जहां 24 घंटे पुलिसकर्मी रहते हैं ऐसे में आरोपी युवक ने हवालात के अंदर जब फांसी लगाई तब पुलिस कहां थी और पुलिस को रात को भनक क्यों नहीं लगी जबकि हवालात के पास पुलिस का संतरी लगातार तैनात रहता है ऐसे में रात के समय जब आरोपी ने फांसी लगाई तब पुलिस क्या कर रही थी।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :