मीडिया Now - हनी ट्रेप मामले में फरार रूपा को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार, समाज के चमकते चेहरों के काले चरित्र को बेनक़ाब करता मामला

हनी ट्रेप मामले में फरार रूपा को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार, समाज के चमकते चेहरों के काले चरित्र को बेनक़ाब करता मामला

medianow 07-04-2021 13:11:55


धीरज चतुर्वेदी / मप्र में अय्याश अधिकारियों और नेताओं को जाल में फंसाकर ब्लेकमेंलिंग करने वाले हुस्न गिरोह की फरार रूपा अहिरवार को मंगलवार की दोपहर भोपाल एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया। साथ में रूपा के भाई को भी हिरासत में लेकर एसटीएफ भोपाल ले गई है। तीन साल साल से फरार रूपा कई बड़े खुलासे कर सकती है। जिसमें प्रदेश सहित छतरपुर जिले के कुछ नेता, अधिकारी और पत्रकारों के भी नाम बेनक़ाब हो सकते है। ज्ञात हो कि इंदौर के रिंग रोड स्थित होटल इंफीनिटी में 30 अगस्त 2019 को आरती दयाल और मोनिका के साथ रूपा अहिरवार भी ठहरी हुई थी। जहाँ इंजीनियर हरभजन सिंह का वीडियो बनाया गया था। 

इंदौर की स्पेशल टीम को होटल के कक्ष क्रमांक 414 की तलाशी के दौरान रूपा की जानकारी मिली तो आरती ने यह बात कबूली कि रूपा मूलत: छतरपुर की रहने वाली है और वह भी ब्लैकमेलिंग गैंग की सदस्य है। उसने भी कई लोगों को हनीट्रैप में फंसाकर लाखों रुपए वसूले हैं। रूपा का विवाह वर्ष 2012 में इटारसी के जगदीश के साथ कर दिया था। कुछ दिनों ससुराल में रहने के बाद उसने ससुराल से किनारा कर लिया और छतरपुर लौट आई थी। अब उसका पति से तलाक हो चुका है। 

ससुराल छोड़कर कुछ साल पहले वह छतरपुर के देरी रोड पर बीड़ी मजदूर कॉलोनी में रहने लगी थी। यहीं से वह आरती दयाल के संपर्क में आई। जिला मुख्यालय छतरपुर के नजदीकी ग्राम पनोठा की मूल निवासी रूपा अहिरवार को मंगलवार की दोपहर भोपाल एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया। रूपा की गिरफ्तारी के बाद हनी ट्रेप मामले में नये खुलासे होने की संभावना है। प्रदेश की राजनीति के बड़े चेहरों, अधिकारियो सहित कुछ पत्रकारों के नाम भी बेनक़ाब हो सकते है।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :