मीडिया Now - स्मृति ईरानी का CM ममता पर हमला- पहले उनके हाथ खून से सने थे, अब दामन पर भी महिला के अत्याचार के दाग हैं

स्मृति ईरानी का CM ममता पर हमला- पहले उनके हाथ खून से सने थे, अब दामन पर भी महिला के अत्याचार के दाग हैं

medianow 21-06-2021 19:18:05


 नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर बड़ा हमला करते हुए कहा है कि पहले तो उनके हाथ खून से सने हुए थे और अब दामन पर भी महिला के अत्याचार के दाग हैं. स्मृति ईरानी ने सीएम ममता पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारे लोकतंत्र में शायद पहली बार देख रही हूं कि एक मुख्यमंत्री राज्य में लोगों को सज़ा-ए-मौत होते इसलिए देख रही हैं, क्योंकि उन्होंने मुख्यमंत्री के पक्ष में वोट नहीं किया.

स्मृति ईरानी ने कहा, "पहली बार ऐसा हुआ है देश में कि एक चुनाव के बाद, परिणाम निकलने के बाद हज़ारों की तादाद में लोग अपना मकान, अपना गांव छोड़कर बॉर्डर तक क्रॉस (पार) कर रहे हैं और रहम की भीख मांग कर रहे हैं, ये कहकर कि हम अपना धर्म बदलने को तैयार हैं. लेकिन ममता बनर्जी और तृणमूल (कांग्रेस) हमें बख्श दे."

स्मृति ईरानी ने आरोप लगाया कि बंगाल में महिलाओं को घरों से उठाकर सार्वजनिक तौर पर उनका रेप किया जा रहा है. चाहे वो दलित महिला हो, आदिवासी हो. उन्होंने कहा, "एक साठ साल की महिला ने सुप्रीम कोर्ट तक का दरवाज़ा खटखटाया कि मेरे 6 साल के पोते के सामने मेरा रेप कर दिया. सिर्फ इसलिए क्योंकि मैं भारतीय जनता पार्टी की कार्यकर्ता और समर्थक हूं. और कितनों का रेप होते मुख्यमंत्री ममता बनर्जी देखेंगी."

दरअसल कलकत्ता हाई कोर्ट ने पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद हिंसा की घटनाओं में मानव अधिकारों के उल्लंघन की जांच राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को सौंपने संबंधी आदेश सोमवार को वापस लेने से इंकार करते हुए इस बारे में राज्य सरकार का आवेदन खारिज कर दिया. अदालत ने मानवाधिकार आयोग को एक समिति गठित कर राज्य में चुनाव बाद हिंसा के दौरान कथित मानवाधिकार उल्लंघन की घटनाओं की जांच करने का आदेश दिया था.

अदालत के इस फैसले के बाद बीजेपी ममता सरकार पर हमलावर है. स्मृति ईरानी ने ममता बनर्जी के इस दावे के लिए उनकी आलोचना की कि उनकी सरकार के तहत हिंसा का बीजेपी का आरोप एक नौटंकी था. उन्होंने कहा, "ईमानदार मुख्यमंत्री को न्याय सुनिश्चित करने के लिए खुद पर इसे लागू करना चाहिए. लेकिन, मैंने हमेशा कहा है कि राजनीतिक यातना, हत्या और बलात्कार टीएमसी के राजनीतिक हथियार हैं और चुनाव के बाद बंगाल में हो रही हिंसा उनके खिलाफ मेरे रुख की पुष्टि करती है."

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :