मीडिया Now - वैक्सीनेशन में बना रिकॉर्ड, एक दिन में 78 लाख टीका लगने पर PM मोदी बोले- वेलडन इंडिया

वैक्सीनेशन में बना रिकॉर्ड, एक दिन में 78 लाख टीका लगने पर PM मोदी बोले- वेलडन इंडिया

medianow 21-06-2021 21:00:11


नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए आज से वैक्सीनेशन अभियान की गति को तेज किया जा रहा है. पहले ही दिन देश ने टीका लगाने का रिकॉर्ड बना लिया है. सरकार के आंकड़ों के अनुसार, अभी तक आज कोरोना वैक्सीन की 78 लाख से ज्यादा डोज लगाई जा चुकी हैं. टीकाकरण का रिकॉर्ड बनने पर प्रधानमंत्री मोदी ने खुशी जताते हुए वेलडन इंडिया कहा है।

केंद्र सरकार आज से देश के हर नागरिकों को फ्री में टीका उपलब्ध करवा रही है. कुछ दिनों पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके बारे में घोषणा की थी. अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के दिन से टीकाकरण की गति को तेज कर दिया गया है. केंद्र सरकार ने वैक्सीनेशन उत्पादन में से 75 फीसदी हिस्सा खुद खरीदने का फैसला किया है, जबकि 25 फीसदी टीका प्राइवेट अस्पतालों द्वारा खरीदा जा सकेगा.

केंद्र सरकार अब टीकों को खरीदकर राज्य सरकार को खुद देगी, जबकि पहले राज्यों को भी टीका खरीदने के लिए कहा गया था. आज सुबह से टीकाकरण अभियान काफी तेजी से चल रहा है. इसी वजह से तकरीबन 78 लाख वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी हैं. सरकार ने बताया कि शाम सात बजे तक कोविन ऐप के अनुसार, 78,75,405 वैक्सीन लग चुकी हैं.

टीकाकरण पर प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ''आज की रिकॉर्ड तोड़ टीकाकरण संख्या खुश करने वाली है. कोविड-19 से लड़ने के लिए वैक्सीन हमारा सबसे मजबूत हथियार बनी हुई है. उन सभी को बधाई, जिन्होंने टीका लगवाया और सभी फ्रंटलाइन वॉरियर्स को भी बधाई जिन्होंने यह सुनिश्चित किया कि इतने सारे नागरिकों को टीका मिल सके. वेलडन इंडिया''.

वहीं, मध्य प्रदेश में भी वैक्सीनेशन का रिकॉर्ड बन गया है. एक दिन में अब तक सबसे ज्यादा टीका लगाया गया. सरकारी डेटा के अनुसार, शाम छह बजे तक राज्य में 13,71,171 लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी थी. सरकार ने दस लाख लोगों के वैक्सीनेशन का टारगेट रखा था, लेकिन अब तक तीन लाख ज्यादा लोगों को टीका लग चुका है. 

गौरतलब है कि कोरोना महामारी को देश में आए एक साल से अधिक हो गया है. अब तक साढ़े तीन लाख से ज्यादा लोगों की कोविड के चलते मौत हो चुकी है. टीकाकरण अभियान देश में इस साल जनवरी में शुरू किया गया था. शुरुआती समय में हेल्थ वर्कर्स और फिर फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाए जाने के बाद बुजुर्गों को टीका लगाया जाने लगा. इसके बाद 45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों का नंबर आया और कोरोना की दूसरी लहर आने के दौरान 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों के टीकाकरण करने का ऐलान किया गया. हालांकि, अब तक 18 से 44 उम्र के लोगों का टीकाकरण राज्य सरकार को करना था, जिसे आज से केंद्र ने अपने हाथों में ले लिया है. 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :