मीडिया Now - Facebook पर सीएम योगी पर भारी पड़े अखिलेश यादव, क्या इशारा कर रहे ये आंकड़े?

Facebook पर सीएम योगी पर भारी पड़े अखिलेश यादव, क्या इशारा कर रहे ये आंकड़े?

medianow 22-06-2021 20:29:50


लखनऊ। इन दिनों सोशल मीडिया (Social Media) में एक रिपोर्ट तेजी से वायरल हो रही है. इसमें बताया गया है कि फेसबुक (Facebook) पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) से ज्यादा लोकप्रिय सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) हो गये हैं. कहा जा रहा है कि अखिलेश यादव की डाली गयी पोस्ट पर योगी आदित्यनाथ के मुकाबले ज्यादा लाइक, कमेण्ट और शेयर मिल रहे हैं. दावा है कि इस रिपोर्ट को पिछले एक हफ्ते के दौरान दोनों नेताओं के फेसबुक पर अपलोड की गयी पोस्ट के आधार पर तैयार किया गया है.  

बता दें फेसबुक पर अखिलेश के फॉलोवर्स ज्यादा हैं. अखिलेश यादव को फेसबुक पर 72 लाख 86 हजार 86 लोग फॉलो करते हैं. अखिलेश यादव के फेसबुक पेज पर 15 से लेकर 22 जून की दोपहर तक के बीच जितनी भी पोस्ट डाली गई उस पर कितने लाइक, कमेंट और शेयर मिले, इसकी रिसर्च NEWS 18 ने की है. 15 जून से लेकर 22 जून की दोपहर तक अखिलेश यादव के फेसबुक पेज पर 15 पोस्ट डाली गयीं. इस दौरान उन्हें 9 लाख 32 हजार 400 लाइक्स मिले. 50 हजार 867 उनके पोस्ट पर लोगों ने कमेंट किए और 30 हजार 545 लोगों ने उनकी पोस्ट को शेयर किया. इस तरह 1 हफ्ते के बीच अखिलेश यादव की डाली गई 15 पोस्ट पर कुल 10 लाख 13 हजार 812 लोगों ने लाइक, कमेंट और शेयर किया.

योगी के 66 लाख 51 हजार 394 फॉलोअर्स  

अब योगी आदित्यनाथ के फेसबुक पेज की भी बात कर लेते हैं. 15 से 22 जून की दोपहर तक अखिलेश यादव के फेसबुक पोस्ट पर मिली प्रतिक्रिया की समीक्षा की गई. उसी दौरान योगी आदित्यनाथ के पेज पर डाली गई पोस्ट पर आने वाली प्रतिक्रिया का भी डाटा देखिए. योगी आदित्यनाथ के फेसबुक पेज को 66 लाख 51 हजार 394 लोग फॉलो करते हैं. 15 से 22 जून की दोपहर 2:00 बजे तक योगी आदित्यनाथ के फेसबुक पेज पर कुल 18 पोस्ट डाली गईं. इन सभी पोस्टों पर 7 लाख 12 हजार लाइक आए, 33 हजार 355 कमेंट हुए और 32 हजार 181 शेयर मिले. इस तरह इस हफ्ते में योगी आदित्यनाथ की कुल 18 पोस्ट पर 7 लाख 77 हजार 777 प्रतिक्रियाएं हुई. इसी समयावधि में अखिलेश यादव की डाली गई 15 पोस्ट पर कुल 10 लाख 13 हजार 812 लोगों ने लाइक, कमेंट और शेयर किया.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

सोशल मीडिया के जानकारों का मानना है कि फेसबुक पर इंगेजमेंट के आधार पर किसी राजनेता की लोकप्रियता तय नहीं की जा सकती. गौर से देखने पर आपको पता चलेगा कि योगी आदित्यनाथ के फेसबुक पेज पर ज्यादातर सरकारी योजनाओं से संबंधित मामले ही पोस्ट किए जाते हैं. मुख्यमंत्री होने के नाते सरकारी योजनाओं को दूसरे माध्यमों से भी जनता तक पहुंचाया जाता है. यूपी सरकार के फेसबुक पेज के जरिए भी सरकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाया जाता है. दूसरी तरफ विपक्ष के किसी राजनेता ऐसे पोस्ट भी सोशल मीडिया पर डालने के लिए स्वतंत्र रहते हैं जो जनता को अपील करने वाले होते हैं.

इस आंकड़े को किस तरह से देख रहीं पार्टियां?

भाजपा के प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा कि अखिलेश यादव की पोस्ट पर मिले कमेंट को भी पढ़ने की जरूरत है. उनकी पोस्ट पर नकारात्मक कमेंट की बाढ़ है. लोग उनसे आक्रोशित हैं. एक्चुअल में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता वर्चुअल ही हैं. भाजपा के कार्यकर्ता जमीन पर हैं. योगी आदित्यनाथ जी और अखिलेश यादव के बीच वर्चुअल वर्ल्ड में तुलना भी नहीं किया जाना चाहिए. अखिलेश यादव बहुत पहले से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सक्रिय हैं जबकि योगी आदित्यनाथ जी हाल के वर्षों में सक्रिय हुए हैं.

दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी से एमएलसी और प्रवक्ता सुनील सिंह साजन कहते हैं कि यह ट्रेंड बताता है कि 2022 के चुनाव में अखिलेश यादव को ही लाइक किया जाएगा. जिस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल करके भारतीय जनता पार्टी सत्ता में आई उसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर योगी जी हमारे नेता से पीछे हैं. यह बताता है कि 2022 का चुनाव हमारे पक्ष में होगा. गांव-गांव तक अखिलेश जी की चर्चा यूं ही नहीं हो रही है. वैसे पार्टियां दावे चाहे जो करें, नेताओं की लोकप्रियता में चाहे जो भी आगे-पीछे हो, लेकिन फेसबुक पर पोस्ट का ये इंगेजमेंट पूरे प्रदेश भर में चर्चा का विषय जरूर बना हुआ है.

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :