मीडिया Now - यूपी के बाहर भी एटीएस ने शुरू की छापेमारी, धर्मातंरण के लिए हवाला से आता था पैसा

यूपी के बाहर भी एटीएस ने शुरू की छापेमारी, धर्मातंरण के लिए हवाला से आता था पैसा

medianow 25-06-2021 19:50:01


लखनऊ। यूपी में धर्म परिवर्तन रैकेट की जांच में मनी लॉन्ड्रिंग के भी सुबूत मिले हैं, इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय ईडी ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। ईडी के निशाने पर एक विदेशी बैंक खाते समेत देश विदेश के आधा दर्जन से ज्यादा संगठन और हवाला ऑपरेटर है। अब तक की जांच में यह भी सामने आया है कि उमर गौतम के संगठन द्वारा जिन लोगों का धर्मान्तरण कराया गया उनमें लगभग 55 प्रतिशत महिलायें हैं। जबकि 45 प्रतिशत पुरुष हैं। वहीं एटीएस शुक्रवार को यूपी से बाहर भी छापे मारी शुरू कर दी है।

इधर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने कहा कि प्रदेश से बाहर भी कई प्रदेशों में धर्मांतरण हो रहा है। अन्य प्रदेशों में भी छापे मारी की जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने एटीएस, एसटीएफ और इंटेलिजेंस को निर्देश दिया है कि इसे बहुत गंभीरता से देखें। यह साफ है कि इसमें कई संस्थाओं के लोग शामिल हैं और बाहर से धनराशि आई है। दोषियों को छोड़ेंगे नहीं। दरअसल यूपी एटीएस ने गुरुवार को ही धर्म परिवर्तन रैकेट से जुडे़ आवश्यक दस्तावेज जांच के लिए प्रवर्तन निदेशालय को सौंप दिए थे। शुरूआत में इस मामले की जांच ईडी की लखनऊ शाखा से कराए जाने को कहा गया था लेकिन मामले में अंतरराष्ट्रीय तार जुड़ने का बाद इस मामले की आरंभिक जांच ईडी मुख्यालय की एसटीएफ शाखा द्वारा कराई गई और जांच में तथ्य मिलने के बाद ईडी ने शुक्रवार को मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

एचएसबीसी बैंक से ट्रांसफर हुआ पैसा 
ईडी सूत्रों के मुताबिक एचएसबीसी बैंक में अज्ञात विदेशी स्रोतों से 1.5 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गये हैं, इस संबंध में ईडी को पर्याप्त सुबूत भी मिले हैं, जिसके बाद केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी है। ऐसे में एटीएस व ईडी के शक के दायरे में अल हसन एजुकेशन एंड वेलफेयर फाउंडेशन भी आ चुका है। ईडी को यह भी शक है कि हवाला के जरिए इससे भी ज्यादा लेन देन हो सकता है, फिलहाल अभी जांच जारी है।

विदेश से भी जुड़े हैं आधा दर्जन संगठन 
एटीएस की जांच में यह भी सामने आया है कि धर्मांतरण गैंग से विदेश के छह संगठन भी जुड़े हैं, जो भारत में सक्रिय गैंग की आर्थिक तौर पर मदद पहुंचाने का काम कर रहे हैं। इसके साथ ही विदेशों से कथित चंदा लिए जाने की रसीदे भी मिली है। ऐसे में इस मामले की जांच की आंच देश से लेकर विदेश तक और आम से लेकर खास तक पहुंच सकती है।

मजलिस अल फलाह ट्रस्ट का का नाम आया सामने 
अभी तक जांच में मजलिस अल फलाह ट्रस्ट का नाम भी सामने आया है, गिरफ्तार उमर गौतम इस एनजीओ का वाइस चैयरमैन बताया जा रहा है। इस संगठन से जुड़े अब्दुल्ला आदम पटेल पर भारत में अवैध धन का भेजने का आरोप है और यह भी शक है कि उसके जरिए उमर गौतम तक धन आय़ा चांदनी चौक दिल्ली के कुछ हवाला आपरेटर भी इस रैकेट में धन लाने के लिए शामिल है।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :