मीडिया Now - सपा नेता पवन पाण्डेय ने अधिकारियों को दी चेतावनी, कहा- अफसर भाजपा एजेंट बनकर ने करें कार्य

सपा नेता पवन पाण्डेय ने अधिकारियों को दी चेतावनी, कहा- अफसर भाजपा एजेंट बनकर ने करें कार्य

medianow 27-06-2021 19:55:26


अयोध्या। जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में लोकतांत्रिक व निष्पक्ष चुनाव के बजाए अफसर भाजपा एजेंट बनकर कार्य न करें। महज छह महीने बाद प्रदेश में समाजवादी सरकार बनेगी। जिसमें कार्रवाई भी सम्भव है। यह चेतावनी सपा से पूर्व राज्यमंत्री रहे तेज नरायन पांडेय उर्फ पवन पांडेय ने रविवार को प्रेस कांफ्रेस कर अधिकारियों को दी है। 

श्रीराम एयरपोर्ट निर्माण में प्रशासन डरा धमका ले रहा है जमीन 
पूर्व मंत्री पवन पाण्डेय ने प्रेस कांफ्रेस में धरमपुर, कुटिया, गुंजा आदि गांवों के किसानों को भी पत्रकारों के समक्ष पेश किया। बताया कि श्रीराम एयरपोर्ट निर्माण में इनकी जमीनें डरा धमका कर प्रशासन ले रहा है। पीड़ित किसान रामलोट ने बताया कि इतना ही नहीं विरोध करने पर फर्जी मुकदमा लागाया जा रहा है। इसका एक कारण ब्राह्मण होना भी है। पवन पांडेय ने कहा कि एयरपोर्ट विस्तारीकरण के खिलाफ धरमपुर, कुटिया, गुंजा आदि गांवों के किसान नहीं हैं। ये अपनी जमीन भी देना चाहते हैं लेकिन सरकार इन्हें उचित मुआवजा नहीं दे ही। पूर्व मंत्री ने कहा कि सरकार प्रभावित गांवों की जमीन का सर्किल रेट बढ़ाए और छह गुना मुआवजा दे। जिससे किसान अपनी जमीन के बदले मुआवजे की धनराशि से बिजनेस कर परिवार का भरण पोषण कर सकें।  

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव को लेकर जिला प्रशासन पर लगाया आरोप
पूर्वमंत्री पवन पांडेय ने जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के रवैये की भर्त्सना की। गोरखपुर, बस्ती व पश्चिमी उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी तथा अन्य दलों के प्रत्याशियों को जिस तरह नामांकन करने से पहले रोका गया, जिनका नामांकन हुआ उनके पर्चे खारिज कर दिए गए। प्रस्तावकों को प्रताड़ित करने के साथ पहुंचने नहीं दिया गया उसे प्रशासनिक गुंडई करार देते हुए निष्पक्ष चुनाव के लिए चेतावनी दी। कहा कि ऐसी घटनाएं लोकतंत्र के लिए शुभ नहीं है। छह माह ही प्रदेश की योगी सरकार के है जिसके बाद समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व में सरकार बनेगी। पुलिस और प्रशासन के अफसर नहीं चेते तो उन पर कार्रवाई भी होगी। 

पवन पांडेय ने सलाह दी कि सिविल सर्विसेज की अथक तैयारी के बाद आईएएस, आईपीएस बनते हैं। जिस तरह से प्रदेश सरकार के एजेंट व भाजपा कार्यकर्ता बनकर पंचायत चुनाव कराया जा रहा वह  पद की गरिमा के खिलाफ है। गरिमा को बनाए रखते हुए सपा के जिला पंचायत सदस्यों का उत्पीड़न बन्द करें। निष्पक्ष व पारदर्शी चुनाव कराएं। सत्ता के सेमीफाइनल वाले इस चुनाव में जनता ने पहले ही योगी सरकार को नकार दिया है। 70 प्रतिशत से अधिक पूरे प्रदेश में जिला पंचायत सदस्य समाजवादी पार्टी के जीते हैं।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :