मीडिया Now - कोरोना: म.प्र. के शहरी क्षेत्रों में वीकेंड लॉकडाउन, दून स्कूल बना रेड जोन, प्रयागराज में नाइट कर्फ्यू, जानें कहां, क्या है स्थिति

कोरोना: म.प्र. के शहरी क्षेत्रों में वीकेंड लॉकडाउन, दून स्कूल बना रेड जोन, प्रयागराज में नाइट कर्फ्यू, जानें कहां, क्या है स्थिति

medianow 08-04-2021 14:28:36


नई दिल्ली। देश में कोरोना महामारी लगातार बढ़ता जा रहा है। राज्य दर राज्य मामलों में तेज़ी देखने को मिल रही है। गुरुवार को भारत में 1.26 लाख से अधिक नए मामले दर्ज किए गए हैं, ऐसे में हर जगह चिंताएं बढ़ने लगी हैं। देश में गुरुवार को कोरोना के महासंकट से जुड़े क्या बड़े अपडेट्स आए हैं, एक नज़र डालिए..

देहरादून दून स्कूल में महासंकट
देहरादून के दून स्कूल को कंटेनमेंट ज़ोन घोषित कर दिया गया है। यहां पर 12 कोरोना के केस मिले हैं, जिसके बाद अब स्कूल में एंट्री-एग्जिट पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। ज़रूरत का सामान यहां पर ही भेजा जाएगा। डीएम के मुताबिक, दून स्कूल के आसपास के चार और इलाकों को कंटेनमेंट ज़ोन घोषित किया गया है।

यूपी के प्रयागराज में भी नाइट कर्फ्यू
उत्तर प्रदेश में बीते दिन 6 हजार से अधिक कोरोना के केस सामने आए, जिसके बाद हर जगह हड़कंप मचा है। यूपी में वाराणसी, लखनऊ और कानपुर के बाद अब प्रयागराज में भी नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। प्रयागराज में रात दस बजे से सुबह 6 बजे तक बाहर निकलने पर पाबंदी है। सिर्फ ज़रूरी क्षेत्र से जुड़े लोग अपने काम पर इजाजत लेकर जा सकते हैं।

मध्य प्रदेश के शहरी इलाकों में वीकेंड लॉकडाउन
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अब पूरे प्रदेश के शहरी इलाकों में वीकेंड लॉकडाउन का ऐलान किया है। पहले ये कुछ ही जिलों में लागू था, लेकिन अब हर शहर में इसे लागू कर दिया गया है। इस दौरान शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा और लोगों के बाहर निकलने पर पाबंदी होगी।

गुरुवार को भारत में कोरोना का हाल...
बीते 24 घंटे में आए कुल केस: 1,26,789
बीते 24 घंटे में हुई कुल मौतें: 685
देश में अभी एक्टिव केस की संख्या: 9,10,319
अबतक कुल मौतें: 1,66,862
कुल केस का आंकड़ा: 1,29,28,574 

शहर-शहर कोरोना का कहर, हर जगह बढ़ने लगी पाबंदियां
कोरोना वायरस की महामारी ने एक बार फिर देश को जकड़ लिया है। कई राज्यों ने संपूर्ण रूप से तो कई राज्यों ने चिन्हित शहरों या जिलों में अपने यहां पाबंदियां लगा दी हैं। कोई नाइट कर्फ्यू लगा रहा है और कोई वीकेंड लॉकडाउन, अभी किस राज्य में क्या स्थिति है, देखें...

- दिल्ली में नाइट कर्फ्यू- रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक (30 अप्रैल तक)
- महाराष्ट्र में नाइट कर्फ्यू- रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक (शनिवार-रविवार)
- पंजाब में नाइट कर्फ्यू- रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक (11 ज़िलों में)
- राजस्थान में नाइट कर्फ्यू- रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक (10 शहरों में)
- ओडिशा में नाइट कर्फ्यू- रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक (10 जिलों में)
- गुजरात में नाइट कर्फ्यू- रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक (20 शहरों में)
- छत्तीसगढ़ में नाइट कर्फ्यू- रायपुर और दुर्ग दो शहरों में लॉकडाउन 
- मध्य प्रदेश में नाइट कर्फ्यू- रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक (शहरों में वीकेंड लॉकडाउन)
- झारखंड में नाइट कर्फ्यू- रात 8 बजे सुबह 6 बजे तक (30 अप्रैल तक)
- यूपी में नाइट कर्फ्यू- रात दस बजे से सुबह 6 बजे तक (4 जिलों में)

देश की राजधानी दिल्ली में नाइट कर्फ्यू के दौरान मेट्रो बंद कर रहेगी, बेवजह बाहर निकलने की मनाही है। हालांकि, जरूरी क्षेत्र वाले लोगों को इससे छूट दी गई है लेकिन उन्हें भी कार्ड बनवाना होगा। दिल्ली में ये सख्त फैसला तब लेना पड़ा जब लगातार केस पांच हजार की संख्या को पार करने लगे. पहले सरकार ने सख्ती बढ़ाई फिर हाईकोर्ट का भी आदेश आ गया, जिसमें कहा गया कि गाड़ी में अकेले बैठने पर भी मास्क पहनना जरूरी है। 

दिल्ली के अलावा गुजरात में भी सख्ती बढ़ाई गई है, प्रमुख शहरों में नाइट कर्फ्यू के दौरान लोगों के बाहर निकलने पर रोक है। वहीं सार्वजनिक कार्यक्रमों के लिए निर्देश जारी कर दिया गया। सख्ती बढ़ने लगी तो लोगों को लॉकडाउन का डर सताया, इसलिए बाजारों में लोग सामान खरीदने जुट पड़े हैं।

संपूर्ण लॉकडाउन का बना हुआ है खतरा
राज्यों ने अभी तो नाइट कर्फ्यू लगाया गया है लेकिन डर ये भी है कि जिस तरह से कोरोना की दूसरी लहर तांडव मचा रही है कहीं फिर से संपूर्ण लॉकडाउन की नौबत ना आ जाए। छत्तीसगढ़ के रायपुर, महाराष्ट्र के कुछ शहरों में पहले ही संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान हो चुका है। 

दिल्ली और पुणे से लौटने लगे मजदूर
कोरोना का संकट बढ़ने से हर जगह सख्ती बढ़ रही है, तो लॉकडाउन की आहट भी बढ़ने लगी है। यही वजह है कि दिल्ली और पुणे से बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर वापस अपने गांव के लिए रवाना हो गए हैं। मजदूरों का कहना है कि जिस तरह के हालात बन रहे हैं, वो फिर से लॉकडाउन में यहां नहीं फंसना चाहते हैं। दिल्ली में बस स्टेशन तो पुणे में रेलवे स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों की भारी भीड़ है।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :