मीडिया Now - लापरवाह डाक्टर ने ली नवजात की जान, एक अस्पताल कर्मी हिरासत में

लापरवाह डाक्टर ने ली नवजात की जान, एक अस्पताल कर्मी हिरासत में

medianow 09-04-2021 20:16:07


सुमित मोहन / महराजगंज। फरेंदा कसबे में एक निजी अस्पताल की लापरवाही ने कुछ ही देर पहले धरती पर अवतरित हुए एक नवजात की जान ले ली।क्षेत्र में कुकुरमुत्ते की तरह उग आये नर्सिंग होमो पर नीम-हकीम की चिकित्सा अनेकोबार जानलेवा साबित हुई है लेकिन बिना पंजीकरण व चिकित्सक के ये हास्पिटल किसके इसारे पर चल रहे यह यक्ष प्रश्न है।

फरेंदा तहसील के बृजमनगंज क्षेत्र के ग्राम नौसागर के बंगला चौराहा निवासी जितेंद्र मौर्य की बहन शीला को डिलेवरी के लिए एक विचौलिया फरेंदा के उत्तरी बाईपास पर स्थित जीवन दायिनी अस्पताल में 8 अप्रैल की रात 10 बजे भर्ती कर दिया जहां  9 अप्रैल की भोर 4 बजे उसने पुत्र को जन्म दिया। सुबह 9 बजे अस्पताल के चिकित्सकों ने बच्चे को वार्मर/फोटोथेरेपी के लिये बॉक्स में रक्खा जहां अनुभवहीनता, लापरवाही व नीम हकीम के नुक़्शे ने नवजात की दर्दनाक की जान ले ली।

इस मेडिकल मर्डर के बाद अस्पताल के  चिकित्सकों ने इस बड़े मामले को छिपाने के लिए परिजनों को गुमराह कर नवजात के शव को गत्ते में पैक करके मोटरसाइकिल से भिजवाकर उसे दफन कर दिया।बाद में जानकारी फैलने पर उसके गांव से कुछ लोग आए और अस्पताल से नवजात की माँ को घर ले जाने लगे तभी देखा गया कि अस्पताल के कर्मचारी अस्पताल से सी सी कैमरा हटवा रहे थे।परिजनों ने इसकी सूचना फरेंदा कोतवाली प्रभारी गिरजेश उपाध्याय को दी।

वे तत्काल ही फोर्स के साथ अस्पताल पहुँच गये। उन्होंने अस्पताल से से तीन कर्मचारियों को हिरासत में भी लिया है।नवजात का मामा जितेंद्र मौर्य ने तहरीर दी दी है। पुलिस ने मामले की जांचकर उचित कार्रवाई का भरोसा दी है। इंस्पेक्टर उपाध्याय ने बताया कि जरूरत पड़ी तो दफनाए गए नवजात के शव को निकाला भी जाएगा।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :