मीडिया Now - RTI में योगी सरकार का दावा निकला खोखला, 86 लाख नहीं, बल्कि 45 लाख किसानों का ऋण हुआ माफ

RTI में योगी सरकार का दावा निकला खोखला, 86 लाख नहीं, बल्कि 45 लाख किसानों का ऋण हुआ माफ

medianow 28-03-2021 00:34:43


लखनऊ। योगी आदित्यनाथ की आगुवाई में उत्तर प्रदेश की में चल रही भजापा सरकार ने पिछले सप्ताह ही अपने चार वर्ष पूरे किए हैं। इसका जश्न सरकार और भाजपा संगठन को लोग पूरे प्रदेश में मना रहे हैं। ऐसे में योगी आदित्यनाथ सरकार की तरफ से विकास के कई दावे किए गए। ऐसा ही एक दावा सरकार की तरफ से किसानों की कर्जमाफी को लेकर किया गया है। 

दरसअल योगी सरकार के प्रस्तुत किए गए रिपोर्ट कार्ड में दावा किया गया कि पिछले चार साल में कुल 86 लाख किसानों का कर्ज माफ किया गया है। लेकिन अब खबर आ रही कि मात्र 45 लाख किसानों की कर्जा माफ  किया गया। यह खुलासा एक RTI के माध्यम से हुआ है। RTI के आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2017 से 2020 तक करीब 45 लाख किसानों का ही कर्ज माफ हुआ है। सरकार की तरफ सह ये जवाब प्रदेश की कृषि डायरेक्टर शोभा रानी श्रीवास्तव ने दिया है। 

बता दें कि उत्तर प्रदेश में मार्च 2017 में भाजपा की योगी सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी पहली कैबिनेट मीटिंग में किसानों की ऋणमाफी का फैसला लिया था। पिछले सप्ताह ही भाजपा उत्तर प्रदेश के ट्वीटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया जिसमें दवा किया गया कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद 2017 से 2020 तक चार साल  में 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया गया।

इसे योगी सरकार की उपलब्धि के तौर पर गिनाया जा रहा है, लेकिन RTI में जो आंकड़े सामने आए हैं, वो बेहद चौकाने वाले हैं। RTI में खुलासा हुआ है कि 2017 से 2020 तक योगी सरकार में कुल 45,24,144 किसानों का कर्ज माफ किया गया। वहीं, रकम के लिहाज से ये करीब 25 हजार करोड़ रुपए होता है। इसका मतलब हुआ कि सरकार ट्विटर पर कर्जमाफी से जुड़ा जो आंकड़ा बता रही है, वो गलत है।

वहीं, इससे पहले 17 जनवरी 2019 को उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने भी ट्वीट कर दावा किया था कि जब से प्रदेश में योगी सरकार आई है, तब से अब तक (17 जनवरी 2019 तक) प्रदेश के 44.03 लाख किसानों का करीब 24,662 करोड़ रुपए का कर्ज मोचन योजना के तहत माफ किया जा चुका है।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :