मीडिया Now - उत्तराखंड में प्रकृति की नियामत खूबसूरती का जीता दयारा बुग्याल, स्वर्ग है

उत्तराखंड में प्रकृति की नियामत खूबसूरती का जीता दयारा बुग्याल, स्वर्ग है

medianow 30-03-2021 15:05:26


उत्तरकाशी। देवभूमि उत्तराखंड में सुंदरता व प्रकृति की नियामत है, दयारा बुग्याल घास की जमीन 2600 मीटर से शुरू होकर 3500 मीटर तक चला जाता है। जंगल और रोडोडेंडर ट्रेस के माध्यम से 9 किमी की ट्रेक इस प्राचीन जगह पर ले जाती है, ग्रीष्मकाल में चरवाहों ने अपने मवेशियों के साथ यहां पहुंचे और सर्दियों की शुरुआत तक रहें। सर्दियों में स्कीइंग और बर्फ की गतिविधियों की क्षमता के साथ घास के मैदान बर्फ भूमि में बदल जाते हैं निकटतम हवाई अड्डा देहरादून में जॉली ग्रांट एयरपोर्ट है, जो उत्तरकाशी मुख्यालय से लगभग 200 किमी दूर है। 

देहरादून हवाई अड्डे से उत्तरकाशी तक टैक्सी तथा बस सेवाएँ उपलब्ध हैं। ऋषिकेश, हरिद्वार और देहरादून सभी जगह रेलवे स्टेशन हैं। उत्तरकाशी से निकटतम रेलवे स्टेशन ऋषिकेश (लगभग 100 किमी) है। ऋषिकेश से उत्तरकाशी बस/टैक्सी से पहुंचा जा सकता है। राज्य परिवहन की बसें उत्तरकाशी और ऋषिकेश (200 किमी) के बीच नियमित रूप से चलते हैं। स्थानीय परिवहन संघ और राज्य परिवहन की बसें तथा टैक्सी उत्तरकाशी और ऋषिकेश (200 किमी), हरिद्वार (250 किमी), देहरादून (200 किलोमीटर)के बीच नियमित रूप से चलते हैं। 

उत्तरकाशी जिला मुख्यालय से 30 किमी रोड के द्वारा भटवाड़ी/रैथल तक, उसके बाद रैथल से ट्रेक रूट जा सकते हैं। दयारा बुग्याल उत्तरकाशी में समुद्री तल 3048 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। उत्तरकाशी-गंगोत्री मार्ग पर स्थित भट्वारी नामक स्थान से इस खूबसूरत घास के मैदान के लिए रास्ता कटता है। दयारा बुग्याल पहुँचने के लिए यात्रियों को बरसू गांव, जहां यात्री वाहनों द्वारा पहुँच सकते हैं,से ट्रैकिंग द्वारा लगभग 8 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :