मीडिया Now - वाराणसी में ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार पर बोले DM- सिलेंडर भरने का कोई सोर्स नहीं

वाराणसी में ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार पर बोले DM- सिलेंडर भरने का कोई सोर्स नहीं

medianow 23-04-2021 18:26:50


नई दिल्ली। देश भर में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच वाराणसी में भी हाहाकार मचा हुआ है. जहां एक तरफ कोरोना संक्रमितों के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं वहीं दूसरी तरफ ऑक्सीजन की कमी को लेकर भी परेशानियां बढ़ती नजर आ रही हैं, ऐसे में वाराणसी में ऑक्सीजन की कमी को लेकर डीएम कौशल राज शर्मा ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. 

उन्होंने कहा कि वाराणसी में ऑक्सीजन भरने का कोई सोर्स नहीं है. हालांकि हवा से ऑक्सीजन बनाने के छोटे प्लांट कुछ अस्पतालों में उपलब्ध हैं. उन्होंने बताया कि चंदौली में ऑक्सीजन की सप्लाई होती है. ऑक्सीजन के एक बंद प्लांट को जिला प्रशासन के सहयोग से शुरू करवाया गया है. जानकारी के मुताबिक वाराणसी में 1900 बेड मौजूद हैं और 1 बेड पर करीब 2 ऑक्सीजन सिलेंडर की आवश्यता होती है. ऑक्सीजन युक्त 1600 बेड पर पहले से ही मरीज हैं. 

वाराणसी में किसको ऑक्सीजन दिया जाए और किस अस्पताल को रोका जाए यह बेहद मुश्किल हो रहा है. नॉन कोविड को पहले दिया जाए या कोविड को इसका समन्वय बनाना मुश्किल है. डीएम ने कहा कि वाराणसी में 5 हजार सिलेंडर की रिक्वायरमेंट है. पिछले साल की तरह स्थितियां होतीं तो हमारे पास रिसोर्स पूरी रहती, लेकिन इस बार यह कई गुना ज्यादा है. उन्होंने कहा कि व्यवस्थाओं को वाराणसी में बढ़ाने की पूरी कोशिश हो रही है.

BHU में तैयार हो जाएगा 1000 बेड का अस्पताल
उन्होंने बताया कि इमरजेंसी में नए मरीजों को भर्ती करने से रोकना पड़ा है. अगर ऐसा नहीं किया जाता तो काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता. जनरल पेशेंट को बेड नही मिल रहा तो उसके पीछे कारण है. व्यवस्थाओं को बनाने के लिए स्टेट गवर्मेंट के सभी अधिकारी लगे हुए हैं. उन्होंने कहा कि जीना-मरना किसी के हाथ में नहीं है, हम व्यवस्थाएं ही दे सकते हैं. उन्होंने कहा कि लावारिश लाशों के लिए शवदाह की व्यवस्था की गई है. बीएचयू में आक्सीजन युक्त 1000 बेड का अस्पताल बन रहा है जो 12 से 15 दिन में पूरी तरह तैयार हो जाएगा.
 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :