मीडिया Now - उत्तरखंड: कोरोना टीकाकरण उत्सव हुआ फ्लाप, अब 18 साल से ऊपर वालों के लिए एक मई से टीका कार्यक्रम पर भी संशय

उत्तरखंड: कोरोना टीकाकरण उत्सव हुआ फ्लाप, अब 18 साल से ऊपर वालों के लिए एक मई से टीका कार्यक्रम पर भी संशय

medianow 30-04-2021 12:31:26


देहरादून। 11 से 14 अप्रैल तक देश भर में मनाया गया टीकाकरण उत्सव फ्लाप हो गया है। अब एक मई से 18 साल से लेकर 45 साल तक के लोगों को कोरोना का टीका लगाने का कार्यक्रम के शुरू होने पर भी फिलहाल संशय है। कारण ये है कि कई राज्यों ने व्यवस्थाएं न होने के चलते पहले दिन से टीकाकरण करने से हाथ खड़े कर दिए हैं। पूरे देश भर में राज्य सरकारें कोरोना को लेकर बड़े बड़े दावे कर रही हैं। जमीनी हकीकत अलग है। दावों के साथ फोटो सेशन चल रहा है। कहीं काम हो रहा है तो वहां मुखिया फोटो खिंचवाने पहुंच जाते हैं। ऐसे में काम तो प्रभावित होगा, साथ ही भीड़ की स्थिति में महामारी फैलने का भी भय है।

यही नहीं युवाओं को कोरोना के टीके को लेकर हर दिन सरकारें दावा कर रही हैं, लेकिन उसके लिए क्या नीति बनाई है यह सरकारें नहीं बता पा रही हैं। कोरोना वैक्सीन की स्थिति क्या है। कितनी बची है, कितनी खपत हो गई। इसका आंकड़ा भी स्वास्थ्य विभाग जारी करने से परहेज करने लगा है। अब आपको बताते हैं कोरोना उत्सव क्या था। इसकी स्थिति उत्तराखंड में क्या रही। अब देश में युवाओं के लिए टीकाकरण को लेकर राज्यों का क्या कहना है।

ये था टीका उत्सव
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ अप्रैल को विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक में टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर जोर दिया था। वहीं, ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाने की बात कही। उन्होंने मीटिंग में मौजूद सभी मुख्यमंत्रियों से कहा था कि हम 11 अप्रैल ज्योतिबा फुले के जन्मदिवस से लेकर 14 अप्रैल, बाबा साहब आंबेडकर के जन्मदिन तक देश में ‘टीका उत्सव’ मना सकते हैं।

टीका उत्सव में वैक्सीनेशन
11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक चलने वाले टीका उत्सव को उत्तराखंड के नजरिए से देखें तो हकीकत कुछ ओर बयां कर रही है। 11 अप्रैल को 300 केंद्र में 29719 लोगों को, 12 अप्रैल को 581 केंद्र में 49242 लोगों को, 13 अप्रैल को 620 केंद्र में 34799 लोगों को कोरोना के टीके लगाए गए। 14 अप्रैल को 533 केंद्र में 30600 लोगों को कोरोना के टीके, 15 अप्रैल को 557 केंद्र में 34552 लोगों को कोरोना के टीके लगे। प्रदेश में 15 अप्रैल तक कुल 1250787 टीके की डोज लग चुकी थी।

टीका उत्सव से पहले की स्थिति
अब टीका उत्सव से पहले की स्थिति में नजर डालें तो इन दिनों से ज्यादा पहले टीके लगाए गए। सात अप्रैल को 572 केंद्र में 63470 टीके, आठ अप्रैल को 718 केंद्र में 107658 टीके, नौ अप्रैल को 697 केंद्र में 60841 को टीके, 10 अप्रैल को 519 केंद्र में 45684 को टीके लगाए गए।

18 साल से 45 साल तक का टीकाकरण
देश में कोरोनावायरस के नए मामलों की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। पिछले कुछ दिनों से रोजाना तीन लाख से ऊपर मामले आने से प्रशासन की चिंताएं बढ़ गई हैं। इस बीच, एक मई से 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेशन देने का कार्यक्रम शुरू होना है। हालांकि, कई राज्यों में पर्याप्त वैक्सीन की उपलब्धता नहीं होने की वजह से वैक्सीनेशन कार्यक्रम पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं।

महाराष्‍ट्र और दिल्‍ली जैसे राज्‍यों ने कहा है कि उनके पास पर्याप्‍त संख्‍या में डोज नहीं हैं। कोरोना के मामलों में तेजी के बीच सरकार ज्यादा से ज्यादा लोगों का टीकाकरण करना चाहती है। 45 से और उससे अधिक वालों के पहले से टीके लगाए जा रहे हैं।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :